Upsc Books

DM Alex Paul Menon (2006 Batch IAS)
Alex Paul Menon from Tirunelveli, who is ranked 121st, had chosen history and Tamil literature and cleared the examination in the fourth attempt,

 
Alex Paul Menon

Employers
  • Govt. Of Chhattisgarh
    Collector · Jan 6, 2011 to present · Sukma, Chhattīsgarh, India
    District Magistrate and the First Collector of the Newly formed District, Sukma, South Bastar Region, Chhattisgarh

College
  • RVS College of Engineering and Technology
    Class of 2001 · 
    Electronics and Communication engineering
    Class of 2001 · Dindigul, Tamil Nadu


High School
  • Keins Matriculation Higher Secondary School
    Class of 1997 · Tirunelveli



 

MR. Alex Paul Menon


SAD NEWS :
Maoists kidnap Chhattisgarh DM Alex Paul Menon

File photo of Sukma District Collector Alex Paul Menon who was kidnapped after Maoists attacked his convoy and took him hostage, in Chhattisgarh on Saturday.
PTIFile photo of Sukma District Collector Alex Paul Menon who was kidnapped after Maoists attacked his convoy and took him hostage, in Chhattisgarh on Saturday.

Cadres of the banned Communist Party of India (Maoist) abducted Alex Paul Menon, the Collector of Chhattisgarh’s troubled Sukma District at about 4:30 Pm on Saturday evening. Mr. Menon was returning from a village meeting when a group of between 15 and 20 Maoists stopped his entourage at Manjipara village, about 8 km from Kerlapal, a village on National Highway 221.

Sukma’s Superintendent of Police, Abhishek Shandilya said the Maoists also killed two personal security officers who accompanied the Collector.

Mr. Menon’s abduction comes at a time when, just across the state border, the Odisha government is involved in protracted negotiations to free Jhina Hikaka, an MLA who was kidnapped by the Maoists on March 24. Earlier this month, the guerillas released two Italians who had also been kidnapped in Odisha. Last year, the party abducted the R. Vineel Krishna, the Collector of Malkangiri, an Odisha district bordering Sukma. Mr. Krishna was released after the state government agreed to a list of demands.

“We are organizing a search party to look for the Collector. We have not received any demands from the Maoists as yet,” Mr. Shandilya said.

“We were conducting a Gram Swaraj Abhiyaan across the district and so we had been traveling with the Collector since the morning,” said Surendra Prasad Vaid, Sukma’s Sub Divisional Magistrate, in an interview over the telephone, “In the morning, the Collector visited the interior villages near Badde Setti and Sam Setti on a motorcycle and returned to Kerlapal for lunch.”

After lunch, Mr. Vaid said, a team of about 25 to 30 civil administration officials accompanied Mr. Menon to a farmers meeting in Manjipara. “Ten minutes after we arrived, the shooting started,” said Mr. Vaid, “As the crowd dispersed, a group of Maoists came and first shot the Collector’s guard. The other guard tried to run, but the Maoists killed him as well.”

Mr. Vaid said the Collector quickly got into his Tata Safari vehicle and started to leave when three Maoists stopped his vehicle. “There were three of us in the car when they stopped us and started shouting ‘Who is the Collector? Who is the Collector’. The Collector identified himself, and they took him away,” said Mr. Vaid

NEWS SOURCE: THE HINDU

ऐसे हुआ कलेक्टर का अपहरण




छत्तीसगढ़ के सुकमा में कलेक्टर अलेक्स पॉल मेनन को नक्सलियों ने बड़ी आसानी से निशाना बना लिया. नक्सली उन्हें आसानी से अपने साथ मोटरसाइकल में बैठा कर ले कर चले गये और उनका हमला भौंचक रह गया. जिन गार्डों के भरोसे कलेक्टर थे, उन्हें नक्सलियों ने पहले ही गोली मार दी थी.

गौरतलब है कि नक्सलियों ने शनिवार को बस्तर संभाग के सुकमा जिले के कलेक्टर अलेक्स पॉल मेनन की जब दोपहर केरलापाल के मांझीपारा में किसान सभा चल रही थी, नक्सलियों ने उनके दोनों गार्डों को गोली मार दी और उन्हें अगवा कर लिया. गार्डों के नाम अमजद खान तथा किशन कुजूर हैं. घटना की जानकारी मिलते ही एसीपी के नेतृत्व में सुरक्षाबल को घटना स्थल पर रवाना कर दिया गया है.

इधर राजधानी रायपुर में पुलिस मुख्यालय में आपात बैठक हो रही है. गृहमंत्री समेत तमाम आला अफसर स्थिति नगातार नजर रख रहे हैं. गृहमंत्री ने नक्सलियों से अगवा कलेक्टर को छोडऩे की अपील की है. केंद्र सरकार ने छत्तीसगढ़ से पूरे घटनाक्रम का ब्यौरा मांगा है. सीमावर्ती इलाकों में अलर्ट जारी कर दिया गया है. ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक को भी घटना की जानकारी दे दी गई है.

शनिवार शाम करीब साढ़े 4 बजे केरलापाल के मांझीपारा में ग्राम सुराज शिविर लगा था. बताया गया कि पहले से कुछ नक्सली ग्रामीण वेशभूषा में वहां मौजूद थे. वहां मौजूद एक सूत्र ने बताया कि कलेक्टर शिविर में बैठे हुए थे तभी एक ग्रामीण वहां पहुंचा और मांझीपारा में किसी काम दिखाने की बात उन्हें कही. जिस पर कलेक्टर अपनी स्कार्पियों में कुछ ही दूर निकले थे तभी 10 से 15 नक्सली मोटर साइकिल में उनकी वाहन को घेर लिया और पूछा कलेक्टर कौन हैं. तभी अन्य नक्सलियों ने उनके दो गनमैन को गोली मार दी और कलेक्टर के वाहन चालक नरेंद्र नेगी से कहा कि हम पूछताछ कर कलेक्टर को छोड़ देंगे तुम जाओ. फिर कलेक्टर को मोटरसाइकिल में बिठाकर ले गए. कलेक्टर की वाहन के पीछे अन्य अधिकारियों की गाडिय़ां थीं जो वहां से वापस केरलापाल पहुंचकर घटना की जानकारी दी.

घटना में शहीद गनमैन अमजद खान नगरी तथा किशन कुजूर रायगढ़ निवासी बताए गए हैं. दोनों डीएफ के जवान बताए गए हैं. इधर आईजी इंटेलिजेंस मुकेश गुप्ता ने एक न्यूज चैनल को दिए बयान में मामले की पुष्टि की है. सुकमा एसपी के नेतृत्व में जवानों का दल सर्चिंग कर रहा है.

कलेक्टर अलेक्स पाल मेमन 2006 बैच के आएएस अधिकारी हैं और मूलत: तमिलनाडु के निवासी हैं. बताया गया कि उनके परिजन कल ही सुकमा से तमिलनाड़ु के लिए निकले हैं.

ज्ञात हो कि नक्सलियों ने शुक्रवार को ग्राम सुराज अभियान से लौट रहे सरकारी वाहनों के काफिले को निशाना बनाया और बारूदी सुरंग विस्फोट कर एक वाहन को उड़ा दिया. इसमें जिला पंचायत सदस्य महेश पुजारी, भाजपा मंडल अध्यक्ष भैरमगढ़ पुरूषोत्तम ठाकुर व वाहन चालक अश्विनी शर्मा की मौके पर ही मौत हो गई. एक अन्य भाजपा कार्यकर्ता अभिषेक ठाकुर को गंभीर चोट आई हैं. हादसे में संसदीय सचिव व क्षेत्रीय विधायक महेश गागड़ा व कलेक्टर सहित अन्य लोग बाल-बाल बच गए. हादसा मद्देड़ से चार किमी आगे तोगड़ापल्ली के पास हुआ. आठ गाडिय़ों का काफिला ग्राम सुराज से भोपालपट्नम से बीजापुर आ रहा था.

यहां यह भी उल्लेखनीय हो कि बीते दिनों ओडिशा में इटली के दो पर्यटकों और उसके बाद एक विधायक झिका हिकाका को बंधक बना लिया गया था. बाद में दोनों इतालवी नागरिक तो छूट गए मगर विधायक अब भी नक्सलियों के कब्जे में हैं. इससे पहले ओडिशा में ही कलेक्टर आर. विनील कृष्णा को भी नक्सलियों ने बंधक बनाया था. ये दोनों इलाके छत्तीसगढ़ की सीमा से लगे हुए हैं.

इधर जगदलपुर मसीह समाज ने माओवादियों से अपील की है कि योग्य एवं कुशल प्रशासक जो कि सुकमा जिले की सेवा हेतु प्रथम नियुक्ति हुई थी उनको अगवा किए जाने से मसीह समाज स्तब्ध रह गया है. मसीह समाज उनके परिवार के लिए भी इस कठिन समय में ईश्वर से प्रार्थना करता है कि उन्हें धीरज एवं धैर्यता प्रदान करे. इस संबंध में मसीह समाज बस्तर संभाग के उपाध्यक्ष रत्नेश बेंजामिन ने बताया कि कलेक्टर एलक्स पाल मेनन की कुशलतापूर्वक सही सलामत वापसी के लिए रविवार को आराधनालयों में विशेष प्रार्थना की जाएगी.


Image Source : Facebook






3 comments:

  1. छत्तीसगढ़ में अगवा किए गए कलेक्टर की रिहाई के लिए माओवादियों ने बीबीसी को भेजे ऑडियो संदेश के जरिए शर्तें रखी हैं. उन्होंने सरकार को 25 अप्रैल तक का समय दिया है. शर्तों में माओवादियों ने अपने कई साथियों की रिहाई और ऑपरेशन ग्रीनहंट बंद करने की माँग की है.

    ReplyDelete
  2. The Naxals in Chhattisgarh have demanded that the government release eight jailed members by May 25 in exchange for abducted Sukma collector Alex Paul Menon, reports said on Sunday.
    news source : http://www.hindustantimes.com/India-news/Chhattisgarh/Sukma-Naxals-demand-release-of-8-members-set-deadline/Article1-844556.aspx

    ReplyDelete

ShareThis

AddThis Smart Layers

 
Top